APJ Abdul Kalam Biography In Hindi | Books, Quotes and Awards

0
62
APJ Abdul Kalam Biography In Hindi
APJ Abdul Kalam Biography In Hindi

APJ Abdul Kalam Biography In Hindi:  आज हम हमारे देश के एक महान वैज्ञानिक की जीवनी के बारे में जानेंगे की कैसे संघर्ष करके अपने देश के लिए क्या क्या किया है और आज की इस APJ Abdul Kalam Biography In Hindi को Read करने के बाद आप अपनी Life में Goal और Motivation के साथ साथ आत्मविश्वास भी देखने को मिलेगा। तो चलिए दोस्तों APJ Abdul Kalam Biography को शुरू करते है।

दोस्तों अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुल आब्दीन अब्दुल कलाम मसऊदी था।  हम बात करे तो अब्दुल कलाम की एक बहुत ही ख़ूबसूरत आदत थी। और वो थी सच बोलने की। अगर इनसे कभी भी कोई गलती हो जाती थी तो ये तुरंत ही उसको मान लेते थे।

और ज्यादातर किसी Work में सफलता के बाद उसका Credit भी नहीं लेते थे। जब भी कोई एक  किसी भी प्रकार का महान कार्य करता है तो वो समाज, शहर या अपने देश का ना रहकर पुरे संसार का हो जाता है। और ये शाबित करके दिखाया भारत देश के एक महान वैज्ञानिक अब्दुल कलाम जी ने। तो अब चलिए APJ Abdul Kalam Biography In Hindi को विस्तार से समझते है।

APJ Abdul Kalam Biography In Hindi| Books, Quotes and Awards

APJ Abdul Kalam का जन्म सन 15 October 1931 को तमिलनायडू राज्य के एक छोटे से गांव रामेश्वरम नामक में हुआ। और अब्दुल कलाम जी मुस्लिम जाती से थे। लेकिन इन्होने कभी भी अपनी जिंदगी में भेदभाव नहीं किया। ये सबको एक समान लेकर चलते थे।

अबुल कलाम के पिता का नाम जैनुलाब्दीन था वो बहुत ही कम पढ़े लिखे थे। लेकिन फिर भी उनका अपने बेटे अब्दुल कलाम पर बहुत प्रभाव था। इनके पिताजी नाव रखते थे और नाव को मछुवारो किराए पर देते थे। इनकी मेहनत और अच्छी लगन के कारण अब्दुल कलाम के अंदर अच्छे संस्कार भरे गए थे।

Also Read: Hardik Pandya Biography in Hindi, Age, Height, Wife And Family

Abdul Kalaam Ji संयुक्त परिवार में ही रहते थे। और बात करे तो अब्दुल कलाम जी का परिवार बहुत ही बड़ा था। अब्दुल कलाम जी की 5 बहने और 5 ही भाई थे। और इनके घर में लगभग 3 परिवार एक साथ रहते थे।

अब्दुल कलाम की Study पंचायत के प्राथमिक विद्यालय में हुई उस समय इनकी उम्र तक़रीबन 5 साल थी। अब्दुल के अध्यापक यविदुराई सोलोमन ने अब्दुल से कहा था की अगर आपको सफलता पानी है तो आस्था, इच्छा और उपेक्षा को भली भांति समझना होगा। और समझने के बाद उन पर पर्भुत्वा हासिल कर लेना चाहिए।

Abdul Kalam Ji ने अपनी Study को जारी रखते हुए Paper बाटने का काम भी Start कर दिया था। सन 1950 में अब्दुल कलाम ने Madras University of Technology से अंतरिक्ष विज्ञानं से स्नातक की उपाधि ली। और उनको स्नातक की उपाधि मिलने के बाद एयरक्राफ्ट ( Aircraft ) परियोजना में काम करने के लिए भारतीय रक्षा अनुसन्धान एवं विकास संसाधन में प्रवेश किया।

APJ Abdul Kalam Biography In Hindi Full Details 

Abdul Kalaam Biography हमने निचे दी है जिसको आप पढ़कर उनके जीवन के कुछ हिस्सों को बहुत ही आसानी से समझ सकते हो। और सरलता पूर्वक जान भी पाओगे।

Name APJ Abdul Kalam
Date Of Birth 15 October 1931 
Date Of Death 27 July, 2015, Shillong
Birth Of Place Rameshwaram (रामेश्वरम)
Wife अविवाहित Unmarried 
Education M.Tech
Awards Bharat Ratna, Padma bhusan, Padma vibhusan
Abdul Kalam Scientist Life

अब्दुल कलाम जी का वैज्ञानिक जीवन (Abdul Kalam Scientist Life)

सन 1972 में एपीजे अब्दुल कलाम (APJ Abdul Kalam) भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान संगठन में शामिल हो गए थे। और अब्दुल कलाम को परियोजना महानिदेशक के रूप में भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह (S.L.V.) तृतीय को परक्षपास्त्र बनाने का काम सोफा गया था। और 1980 में अब्दुल कलाम ने रोहिणी उपग्रह को पार्थवी की क्लास के निकट स्थापित किया था।

  • यह मेरा चरण था जिसमे मैंने तीन महान शिक्षकों – विक्रम साराभाई, प्रोफेसर सतीश धवन और ब्रम्ह प्रकाश से नेतृत्व सीखा मेरे लिए ये सिखने और ज्ञान के अधिग्रहण के समय था। – अब्दुल कलाम 

Abdul Kalam ने India के विकास स्तर को विज्ञानं की दुनिया में आधुनिक कुछ करने में बहुत ही विशेष सोच प्रदान। Indian Government के मुख्य सलाहकार और वैज्ञानिक (Scientist) भी थे। पृथ्वी मिसाइल और अग्रि मिसाइल दोनों का श्रेय कुछ इनको भी है।

अब्दुल कलाम को भारतीय जनता पार्टी (BJP) समर्थित NDA घटक डालो ने अपना उम्मीदवार भी बनाया था। और अब्दुल कलाम जी भारत (India) के राष्ट्रपति भी निर्वाचित हुए थे। सन 18 July 2002 को Abdul Kalam को 90% बहुमत से भारत का राष्ट्रपति (President) चुना गया था।

उसके बाद अब्दुल कलाम को 25 July 2002 को संसद भवन के अशोक कक्ष में राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई गई थी। और इनका राष्ट्रपति कार्यकाल सन 2007 में समाप्त हुआ। अब्दुल कलाम अपनी Life में शाकाहारी और बहुत ही अनुशाशन प्रिय रहे।

अब्दुल कलाम ने अपनी जीवनी Wings of Fire” को भारतीय युवाओ का मार्गदर्शन प्रदान करने वाले अंदाज़ में लिखी है। और अब्दुल कलाम की दूसरी पुस्तक अब्दुल कलाम जी के आत्मविचारो और उनकी महानता को प्रदर्शित करती है। “Guiding Souls – Dialogue of Purpose of Life

भारत पर 600 वर्षो तक 2000 वर्षो के इतिहास में अन्य लोगो ने शाशन किया है। अगर आपको विकास चाहिए तो देश में शांति का अमल होना बहुत ही जरुरी है। और शक्ति से शांति की स्थापना होती है। इसी कारण प्रक्षेपास्त्रो को विकसित किया गया ताकि देश शक्ति संपत्र हो।  – अब्दुल कलाम 

अब्दुल कलाम का सम्मान और पुरुस्कार 

सन 1981 में अब्दुल कलाम को भारत सरकार (Indian Government) द्वारा पद्मभूषण और सन 1990 में पदविभूषण का सम्मान प्रदान किया गया था।  और ये उपाधि DRDO ने कार्यो के दौरान वैज्ञानिक उपलब्धियों के लिए तथा Indian Government (भारत सरकार) के सलाहकार के रूप में कार्य सोफ दिया।

सन 1997 में भारत का सर्वोच्य नागरिक सम्मान “भारत रत्न” से अब्दुल कलाम को सम्मानित किया गया। ये पुरस्कार उनके वैज्ञानिक अनुसंसाधनो और भारत में तकनिकी के विकास में अभूतपूर्व योगदान हेतु दिया था सन 2005 में स्विट्ज़रलैंड सरकार (Switzerland Government) ने अब्दुल कलाम साहब के स्विट्ज़रलैंड आगमन के उपलक्ष में 26 May को विज्ञानं दिवस घोसित किया गया था।

Abdul Kalaam Ji को नेशनल स्पेस सोसाइटी (National Space Society) ने वर्ष 2013 में उनको अंतरिक्ष विज्ञानं सम्बंधित परियोजनाओ के कुशल सञ्चालन और प्रबंध के लिए वॉन ब्राउन अवार्ड (Won Brown Award) से सम्मानित किया था।

एपीजे अब्दुल कलाम को और भी बहुत सारे पुरस्कार और सम्मान से नवाजा गया था। और आप विकिपीडिया (Wikipedia) में पुरस्कार के सेक्शन में पढ़ सकते है।

APJ Abdul Kalam Died
APJ Abdul Kalam Died

अब्दुल कलाम का निधन ( APJ Abdul Kalam Died)

हमारे देश के महान वैज्ञानिक Abdul Kalam Ji का निधन सन 27 July 2015 को हुआ था। शाम को अब्दुल कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलॉन्ग में रहने के योग्य ग्रह पर Speech दे रहे थे। अचानक तभी उनको अपने सीने में दर्द सा महसूस हुआ और बाद में पता चला की अब्दुल कलाम को दिल का दौरा पड़ा था

इसके कारण वो बेहोस हो गए और जमीन पर गिर गए। लगभग साढ़े छह (6.30) बजे अब्दुल कलाम को गंभीर अवस्था में बेथानी हॉस्पिटल में ले जाया गया। उसके बाद उनको ICU में शिफ्ट कर दिया। और कुछ समय लगभग 2 घंटे के बाद डॉक्टर जॉन साइलो ने अब्दुल कलाम की मृत्यु की पुष्टि की।

डॉक्टर ने बताया की जब अब्दुल कलाम को हॉस्पिटल में लाया गया था तब उनका Blood Pressure और उनकी नबज साथ छोड़ चुकी थी। अपने मृत्यु के लगभग 9 घंटे पहले अब्दुल कलाम ने Tweeter पर tweet करके बताया था की वो शिलॉन्ग IIM में लेक्चर के लिए जा रहे है।

अब्दुल कलाम जी का अंतिम संस्कार 

Abdul Kalam Ji के निधन के पश्चात् उनके पार्थिव शरीर को भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) के हेलीकाप्टर में शिलॉन्ग से गुवाहाटी लाया गया। और 28 July को गुवाहाटी से पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम के पार्थिव शरीर मंगलवार दोपहर को वायु सेना के विमान C-130 J हरक्यूलिस से दिल्ली लाया गया।

Conclusion On Apj Abdul Kalam Biography in Hindi

Friends… इस Article में आपने Apj Abdul Kalam Biography in Hindi को Details में पढ़ा। और शायद आपने इस जीवनी से बहुत कुछ अच्छा सीखा होगा। अगर हमसे इस Post को लिखने में कोई गलती हो गई हो तो आप हमें Comment करके जरूर बताये। हम इसको लगातार Update करने की कोशिश करेंगे।

आज की हमारी ये Apj Abdul Kalam Biography in Hindi आपको कैसी लगी कमेंट जरूर करे। और अच्छी लगी हो तो Like के साथ इस पोस्ट को Share भी करे। इस तरह की जानकारी पढ़ने के लिए आप हमें Follow भी कर सकते है।

Thanks For The Reading This Information.

*** जयहिंद जयभारत ***

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here